दिल्लीदिल्ली

ठंड और कोहरे के चपेट में पूरा उत्तर भारत आ गया है. देश के उत्तर में स्थित श्रीनगर में तापमान शून्य से 4.2 डिग्री सेल्सियस नीचे रहा. वहीं, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली रविवार सुबह भी भीषण ठंड की चपेट में रही. दिल्ली और एनसीआर का न्यूनतम तापमान गिरकर 3.5 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया, जो इस सर्दी का सबसे कम तापमान है और शहर के कई हिस्सों में कोहरे की मोटी परत देखी गई. शनिवार को 3.6 डिग्री सेल्सियस और शुक्रवार के 3.9 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया था. इस बीच, ठंड और कोहरे को देखते हुए एमसीडी/एमसीडी-सहायता प्राप्त/एमसीडी-मान्यता प्राप्त स्कूलों का समय बदला गया. घने कोहरे के कारण दिल्ली में 10 विमान सहित पूरे देश में करीब 100 विमानों ने देर से उड़ान भरी.

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि रविवार को दिल्ली का न्यूनतम तापमान औसत से चार डिग्री कम रहा. मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिनों तक बहुत घने कोहरे और शीत लहर की स्थिति की आशंका जताई है. दिल्ली में 20 जनवरी तक घना कोहरा की स्थिति बने रहने की संभावना है.

दिल्ली में सुबह 3 बजे से 10.30 बजे तक 50 मीटर से कम दृश्यता वाला घना कोहरा दर्ज किया गया. कुछ घंटों तक धूप खिली रही लेकिन दिन का तापमान भी कम बना रहा. मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण, कुछ नमी का प्रवेश हुआ है. स्थितियां पहले से ही बहुत ठंडी हैं और हवाएं शांत हैं. घने कोहरे के पनपने के लिए ये बिल्कुल उपयुक्त स्थितियां हैं. इसके अलावा, तत्काल कोई तेज हवाएं या ऐसी कोई मौसम प्रणाली नहीं है जो कोहरे की इस परत को साफ कर सके. जब तक कोई बहुत सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ नहीं होगा, यह परत बनी रहेगी.

मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि अगले 4-5 दिनों के दौरान उत्तर भारत में घने कोहरा बना रहेगा और उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में अधिकतम तापमान कम होने से ठंड बढ़ेगी. अगले तीन दिनों के दौरान शीत लहर का प्रकोप बढ़ेगा.

दिल्ली में स्कूलों का समय बदला

दिल्ली के सभी एमसीडी/एमसीडी-सहायता प्राप्त/एमसीडी-मान्यता प्राप्त स्कूलों का समय बदला है. मौजूदा कोहरे की स्थिति को देखते हुए एहतियात बरतते हुए 15 जनवरी से 20 जनवरी तक सभी कक्षाओं यानी नर्सरी, केजी और प्राथमिक कक्षाएं सामान्य पाली: सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक, सुबह की पाली: सुबह 9 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक, शाम की पाली: दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगी.

कोहरे कारण 100 विमानों ने देर से भरी उड़ान

रविवार को पाकिस्तान से लेकर पूर्व में बंगाल की खाड़ी तक पूरे भारत-गंगा के मैदानी क्षेत्र में घने कोहरे की चादर छाई हुई है. घने कोहरे के कारण कम दृश्यता की स्थिति के कारण परिचालन बाधित होने के कारण रविवार सुबह दिल्ली हवाई अड्डे पर कुल 10 उड़ानें डायवर्ट की गईं, लगभग 100 में देरी हुई और कुछ रद्द कर दी गईं. एक अधिकारी ने बताया कि सुबह 4.30 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच 2 अंतरराष्ट्रीय उड़ानों सहित कुल 10 उड़ानों को जयपुर डायवर्ट किया गया. अधिकारी ने कहा कि खराब मौसम के कारण विदेशी सेवाओं सहित लगभग 100 उड़ानों में देरी हुई और कुछ उड़ानें रद्द कर दी गईं.

कश्मीर में शून्य से नीचे 4.2 डिग्री सेल्सियस तापमान

कश्मीर में शीतलहर फिर लौट गई है. श्रीनगर में तापमान शून्य से 4.2 डिग्री सेल्सियस रहा है. मौसम विभाग ने कहा कि सांबा में न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. जम्मू-कश्मीर में राजौरी में सबसे अधिक तापमान 22.2 डिग्री सेल्सियस के साथ दर्ज किया गया. इसके बाद उधमपुर का स्थान रहा जहां अधिकतम तापमान 22.1 डिग्री सेल्सियस रहा. जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित बनिहाल में अधिकतम तापमान 20.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 10.5 डिग्री सेल्सियस अधिक है. हालांकि, हाईवे शहर में रात का तापमान शून्य से 0.8 डिग्री सेल्सियस नीचे था.

अधिकारी ने बताया कि रियासी जिले में माता वैष्णो देवी मंदिर जाने वाले तीर्थयात्रियों के आधार शिविर कटरा में अधिकतम तापमान 20.9 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. डोडा जिले के भद्रवाह में अधिकतम तापमान 18.4 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान शून्य से 1.1 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया.

यह भी जरूर पढ़े :

ट्रक ड्राइवर की हड़ताल हुई खत्म, फिलहाल लागू नहीं होगा हिट एंड रन का नया कानून

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed