ममताममता

लोकसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. इसके बाद सवाल उठने लगा है कि क्या ममता बनर्जी ने ‘एकला चलो’ का प्लान बनाया है? क्या बनने से पहले ही इडिया गठबंधन (I.N.D.I.A. Alliance) टूट गया है. ममता बनर्जी के अकेले चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद कांग्रेस का पहला बयान सामने आया है. कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस (TMC) गठबंधन का अहम हिस्सा है.

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने ममता बनर्जी के ऐलान पर कहा है कि उनके बिना गठबंधन का अस्तित्व नहीं है. टीएमसी गठबंधन का महत्वपूर्ण हिस्सा है. टीएमसी के बिना गठबंधन की कल्पना नहीं की जा सकती है. कोई बीच का रास्ता निकाला जाएगा. कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ‘ममता जी का पूरा बयान आपने नहीं सुना. उन्होंने ऐसा कहा है कि बीजेपी को हारने के लिए वो अपनी लड़ाई लड़ेंगी. जब आप लंबा सफर करते हैं तो बीच-बीच में स्पीड ब्रेकर और लाल बत्ती आती है. इसका मतलब ये नहीं सफर खत्म हो गया. जैसा मैंने पहले ही कहा था की 25 तारीख से पहले खेला होबे तो वैसा ही होगा. टीएमसी इंडिया गठबंधन का बहुत बड़ा आधार है. उसके बगैर गठबंधन की कल्पना नहीं की जा सकती है. जो भी है बातचीत से सुलझा लिया जाएगा. हम बात करेंगे. सभी घटक दलों का सहयोग रहेगा.’

ममता ने किया अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान

इससे पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने ऐलान किया था कि उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस लोकसभा चुनाव में अकेले लड़ेगी. ममता बनर्जी ने कहा था कि हमने जो प्रस्ताव दिए थे, उन्होंने (इंडिया) सभी ठुकरा दिए. इस वजह से अब हमने अकेले लोकसभसा चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है. ममता बनर्जी ने कहा, ‘गठबंधन के लिए, मुझे पश्चिम बंगाल में न्याय यात्रा के कार्यक्रम के बारे में सूचित किया जा सकता था. लेकिन, मुझे कुछ भी नहीं बताया गया.

ममता ने क्या दिया था प्रस्ताव?

ममता बनर्जी ने इससे पहले कांग्रेस को 300 सीटों पर चुनाव लड़ने और बाकी सीटें अन्य क्षेत्रीय पार्टियों के लिए छोड़ने का प्रस्ताव दिया गया था. ममता बनर्जी ने कहा, ‘अब हम क्षेत्रीय दल लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद ही आगे का फैसला लेंगे. क्षेत्रीय दल एकजुट रहेंगे.’ पश्चिम बंगाल में अकेले चुनाव लड़ने के हालिया संकेत मुख्यमंत्री ने 19 जनवरी को पार्टी की प्रशासनिक समीक्षा बैठक में तृणमूल कांग्रेस की एक संगठनात्मक बैठक में दिए थे, जब उन्होंने कहा था कि उनकी पार्टी सभी 42 लोकसभा सीटों से उम्मीदवार उतारने के लिए तैयार है.

यह भी जरूर पढ़े :

दुनिया का सबसे छोटा अस्पताल, अयोध्या में देगा अपनी सेवाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed